मधुमेह को कैसे कंट्रोल करे? Sugar ko Kaise Control Kare?

Sugar ko Kaise Control Kare?

Sugar ko Kaise Control Kare?

मधुमेह को कैसे कंट्रोल करे? Sugar ko Kaise Control Kare?

मधुमेह को कैसे कंट्रोल करे? Sugar ko Kaise Control Kare?-Dr.Jagdish Joshi, Lifestyle Expert125

मधुमेह को कैसे कंट्रोल करे
मधुमेह को कैसे कंट्रोल करे

आजकल अनेक व्यक्ति मधुमेह (Madhumeh)के शिकार है | अनेक युवा भी मधुमेह के शिकार हो रहे है | इस वजह से मधुमेह रोगी ब्लड शुगर बढ़ने की वजह से परेशान होते रहते है | कई लोग तो कहते है की हम तो गोली खा रहे है, शुगर कंट्रोल मे है | किन्तु क्या यह सही है? यह बिलकुल सही नहीं है |

क्योकि नियमित रूप से दवाईयो का सेवन करने के बाद भी ब्लड शुगर बढ़ती ही है | यदि दवाईयों का सेवन करने के बाद ब्लड शुगर अधिक नहीं बढ़ती है तो नियमित रूप से शरीर के विभिन्न अंगो को नुकसान पहुँचाती है |

इसी वजह लम्बे समय बाद रक्त में ब्लड शुगर बढ़ने की वजह से शरीर के विभिन्न अंग जैसे ह्रदय, किडनी, आंखे व अन्य अंग बुरी तरह से प्रभावित होते है |

इसी वजह से मधुमेह के शिकार व्यक्ति भविष्य मे साईलेंट हार्ट अटेक, किडनी के रोग, आंखो के रोग, शरीर का अत्यधिक वजन घट जाना व अनेक रोगों के शिकार हो जाते है | जबकि व्यक्ति नियमित रूप से दवाईयो का सेवन कर रहा होता है | जब व्यक्ति नियमित रूप से दवाईयो का सेवन कर रहा है तो उसके शरीर को कोई दुष्प्रभाव नही पड़ना चाहिए |

क्या इसका मतलब यह नहीं हुआ की केवल दवाइयों का सेवन करना ही पर्याप्त नही है? मधुमेह की दवाइयों के साथ-साथ हमारी आहारचर्या (Lifestyle) को सही करना पड़ेगा | अन्यथा दवाइयों का सेवन करने के बाद भी मधुमेह रोगियों को भविष्य में गंभीर रोगो का शिकार होना होगा

शुगर(Diabetes)बढ़ने के क्या लक्षण होते हैं?(Symptoms of Blood Sugar):

शुगर (Diabetics) बढ़ने के लक्षण निम्न लिखित है | यदि आपके शरीर में इन लक्षणों में से कोई लक्षण दिखते है तो आप तुरंत अपने चिकित्सक लेकर अपने रक्त की जांच करवाए |
यदि आपको अत्यधिक प्यास लगती है, अत्यधिक भूख लगती है |
यूरिन से खूशबू आना (Sweet-Smelling Urine)
आँखों से धुंधला दिखाई देता है (Blurry Vision)
अत्यधिक थकान (Fatigue)
वजन का अत्यधिक घटना (Weight Loss)

तो क्या करे? की हमारी रक्त शर्करा(Blood Sugar) कंट्रोल मे कैसे रहे? मधुमेह रोग होने पर हमारे शरीर के समस्त अंग सुरक्षित रहे |

रक्त शर्करा को कैसे नियंत्रित करे ?(Sugar ko Kaise Control Kare?)

हमें अपनी ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए अपनी जीवन चर्या को व्यवस्थित करना होगा | जब आपकी जीवनचर्या को व्यवस्थित होती है| सकारात्मक आहार का सेवन करते है | तो निश्चित ही मधुमेह होने पर भी आपका जीवन अनेक बीमारियो से सुरक्षित रहता है |

तो आईये जानते है की मधुमेह होने पर हम कैसे स्वस्थ रह सकते है? मधुमेह होने पर कैसे अनेक बीमारियो से अपने शरीर को सुरक्षित रख सकते है?

जीवन को सक्रियता प्रदान करे(Sugar ko Kaise Control Kare?) :

अपनी जीवन चर्या मे किसी भी प्रकार के शारीरिक अभ्यास को अवश्य शामिल करे | आप चाहे तो योग करे/टहले/जीम जाये या अन्य कोई शारीरिक अभ्यास कर सकते है | ध्यान रखे शारीरिक अभ्यास आपके शरीर की क्षमता के अनुसार ही होने चाहिए |

आप कहेगे हम तो दवा गोली सब समय पर खाते है | तो फिर भी हमें व्यायाम करना पडेगा | हां यदि आपको मधुमेह को नियंत्रित रखना है | जीवन में अनेक गंभीर रोगो से बचना है तो व्यायाम तो करना ही होगा |

यदि आप मधुमेह रोगी नहीं भी है तो भी आपको व्यायाम तो करना ही होगा | क्योकि व्यायाम ही हमें स्वस्थ बनाता है | हमारे द्वारा सेवन किये गए भोजन को पचाता है | हमें शक्तिशाली बनाता है | हमारी जीवन शक्ति को मजबूत बनाता है | इस वजह से हम अनेक बीमारियों से सुरक्षित रहते है | तो व्यायाम क्यों न करे |

आप प्रातकाल घूमने जा सकते है | दोपहर के भोजन के एक घंटे बाद आप घूमने जा सकते है | शाम को भी घूम सकते है | रात्री भोजन के एक घंटा बाद भी घूमने जा सकते है | आपके पास अनेक विकल्प उपलब्ध है | आवश्यकता है अपने संकल्प को मजबूत करने की है | ताकि आप की रक्त शर्करा नियंत्रित रहे |

व्यायाम के बारे में आजकल के अनेक स्वास्थ्य विशेषज्ञ सलाह दे रहे है | उनके शोध के अनुसार नियमित रूप से टहलने से रक्त शर्करा नियंत्रित रहती है | इसके साथ ही जो लोग नियमित रूप से टहलते है उनकी जीवन शक्ति मजबूत हो जाती है |

इसलिए आपको भी अपनी जीवनचर्या में सक्रियता तो प्रदान करना ही होगी | इसके बिना आप केवल दवाईयों के सहारे रक्त शर्करा (Blood Sugar)को नियंत्रित नहीं कर सकते है | यदि आप अपने शरीर को जीवन पर्यन्त स्वस्थ रखना है तो सक्रियता को अपनी जीवनचर्या का अंग बनाना ही होगा |

यदि आप थके हुए है, नींद नही हुई है तो ऐसी अवस्था मे व्यायाम न करे | अन्यथा लाभ के स्थान पर हानि होने की पूर्ण संभावना है | जब आपको लगे शरीर में थकान है तो ऐसी स्थिति में पर्याप्त विश्राम करना चाहिए | थकान दूर करने के लिए योग निद्रा का भी अभ्यास किया जा सकता है |

जब आप योग निद्रा का अभ्यास करते है तो आप शारीरिक रूप से तो थकान से मुक्त होते है साथ ही मानसिक रूप से भी रिलेक्स हो जाते है |

आहार मे सकारात्मक आहार का सेवन करे (Sugar ko Kaise Control Kare?) :

आपके आहार मे रक्त शर्करा(Blood Sugar) बढ़ाने वाले आहार का सीमित मात्रा मे ही सेवन करे | प्राय अनेक व्यक्ति अपने आहार को सामान्य आहार समझते है | यहा तक की रोटी, चावल मे भी शर्करा की अत्यधिक मात्रा होती है | इसलिए इनका उचित मात्रा मे ही सेवन करे |

आप गेहूँ के आटे में चने का बेसन, ताजी पीसी हुई अलसी, लोकी, पत्ता गोभी, मैथी व अन्य सब्जियों को मिलाकर भी सेवन कर सकते है | इससे कार्बोहाइड्रेट की मात्रा स्वतः ही कम हो जाएगी |

आखिर रोटी/चावल का श्रेष्ठ विकल्प क्या है?(Diabetes Mellitus Diet) :

प्राय: हमारे आहार का मुख्य भाग रोटी व चपाती ही होता है | हम गेहू के आटे की चपाती का सेवन करते है | यदि हम गेहू के स्थान पर ज्वार या बाजरे की चपाती का सेवन करते है तो ब्लड शुगर की मात्रा कम बनती है |

यदि आप सही विधि (32 बार एक कौर को चबाना) से चपाती का सेवन करते है तो चपाती की मात्रा स्वतः ही कम हो जाती है |

चावल (Glucose)को सीमित मात्रा मे ही सेवन करे | चावल के स्थान पर ब्राउन राईस की मात्रा का उचित मात्रा मे ही सेवन करे |

आहार- मसाले जो आपकी रक्त शर्करा(Blood Sugar) को नियंत्रित करे:

अपने आहार में लौंग(Clove), हल्दी(Turmeric), दालचीनी( Cinnamon) व लहसून (Garlic) को शामिल अवश्य करे इनका सेवन रक्त शर्करा (Blood Sugar) को नियंत्रित करता है | ध्यान रहे आपको अपने शरीर की प्रकृति के अनुसार ही इन आहार-मसालों का सेवन करना है |

शुगर कम करने के घरेलू उपाय (How to Reduce Sugar Level Home Remedies):

रोटी व चावल की मात्रा को कैसे सीमित करे?यदि आप रोटी व चावल की मात्रा को सीमित करना चाहते है तो पर्याप्त समय इसे चबाये | इस प्रकार आपके आहार से चपाती व चावल की मात्रा स्वत: ही कम हो जाएगी | इस विधि को हम 32 बार चबाने के जादू से जान सकते है |

यदि आप भोजन के पूर्व सलाद का सेवन करते है तो आपके आहार से सामान्य आहार की मात्रा कम हो जाती है | सलाद मे शक्कर नही के बराबर होती है | इसलिए मधुमेह रोगियो को भोजन के पूर्व पर्याप्त मात्रा मे सलाद का सेवन तो कर ही लेना चाहिए | यदि आप 300 -450 ग्राम की मात्रा में सलाद का सेवन करते है तो आप के आहार से ब्लड शुगर बढ़ाने वाले आहार की मात्रा स्वतः ही कम हो जाती

इसके साथ ही आहार मे भरपूर मात्रा मे सब्जियों का सूप, चपाती के साथ सब्जियों का सेवन, छिलके वाले खड़े अनाज, अंकुरित अनाज, फीके व खट्टे फलो को आहार मे शामिल कर रोटी व चावल की मात्रा को बहुत आसानी से कम किया जा सकता है |

सकारात्मक विचार(Positive Thinking) :

विचारो का हमारी ब्लड शुगर के स्तर पर बहुत प्रभाव पड़ता है | जैसा की हम देखते है की तनाव होने पर हमारे रक्त मे ब्लड शुगर का स्तर बिना मीठा खाये अत्यधिक बढ़ जाता है | तनाव, दुख, चिंता का हमारे शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है | इस वजह से भी ब्लड शुगर की मात्रा अत्यधिक बढ जाती है |

मन को सकारात्मक करने के लिए योग निद्रा, सकारात्मक प्रवचन, मधुर संगीत के माध्यम से मन को प्रसन्न किया जा सकता है | इसके साथ ही प्राकृतिक वातावरण जैसे बगीचे में समय बीता कर, दोस्तों के साथ समय बीता कर, बागवानी कर व सकारात्मक कार्यो को कर के आप आसानी से मन को प्रसन्न रख सकते है |

जब आप नियमित रूप से प्रातकाल टहलते है, प्राणायाम व ध्यान करते है तो मन स्वत: ही प्रसन्न रहता है | क्योकि ऐसी स्थिति में आप प्रकृति के नजदीक रहते है |

इस प्रकार हम देखते है की केवल सही जीवन शैली जी कर हम ब्लड शुगर को हीं नियंत्रित नही करते है बल्कि अपने को अनेक बीमारियो से सुरक्षित कर लेते है|

बिना दवाई के कैसे मधुमेह को खत्म किया जाता है? (How to Reduce Sugar Level Home Remedies):

डायबिटीज (मधुमेह) एक ऐसी बीमारी है जिसे जड़ से ख़त्म नहीं किया जा सकता है | सही जीवन शैली ही मधुमेह को नियंत्रित कर हमें स्वस्थ व निरोगी
निम्न लिखित उपायों से बिना दवा के डायबिटीज को करें कंट्रोल:
अपने वजन को उचित स्तर पर रखे |
आहार में जो को शामिल करे |
ज्वार की चपाती का सेवन करे
आहार में पर्याप्त मात्रा में ताजी, मौसमी सब्जियो को शामिल करे |
फीके व खट्टे फलो को आहार का अंग बनाये |
दालचीनी का सेवन करे |
प्रोटीन डाइट का पर्याप्त सेवन करे
बादाम व अखरोट का सेवन करे

शुगर(Glucose)बढ़ जाए तो क्या करें?(How to Control Sugar?):

जब भी शुगर बढ़ जाए तुरंत ककड़ी, करेले व टमाटर के रस का सेवन करे |
भिन्डी के पानी का सेवन करे |

पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करे चिकित्सा विशेषज्ञो के अनुसार रक्त शर्करा(Blood Sugar) बढ़ने पर पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करे |

आहार में करेले व जामुन का प्रयोग रक्त शर्करा(Blood Sugar)को नियंत्रित करता है | जामुन में एथोसायनिन, एलेजिक ऐसिड व अन्य गुण पाये जाते है जिससे रक्त शर्करा(Blood Sugar)नियंत्रित होती है |

व्यायाम व सक्रियता को अपने जीवन का अंग बनाये |

शुगर कम करने के लिए क्या खाना चाहिए?(How to Control Sugar?):

पालक: पालक का पर्याप्त मात्रा में सेवन करना चाहिए | पालक में विटामिन के, ए और सी पर्याप्त मात्रा में होते हैं
करेला: करेले में एंटी वायरल गुण होते है | इसके साथ ही करेले में भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है |

मधुमेह में क्या नहीं खाना चाहिए?

यदि आप को मधुमेह है तो आपके मैदा, मेदे से बने हुए खाद्य पदार्थ, पास्ता, स्टार्च वाले आहार, चावल, शक्कर, मक्का, अत्यधिक वसा युक्त खाना, मीठे फल, मीठे ड्राय फ्रूट्स व ऐसे आहार जो रक्त में शर्करा का मात्रा को बढ़ाते है का सेवन नहीं करना चाहिए |

शुगर फ्री फल कौन-कौन से हैं?(How to Control Sugar Level?)

निम्न लिखित फलों/सब्जियों को ‘शुगर फ्री’ कहा जा सकता है | डायबिटीज रोगियों को इनका सेवन जरूर करना चाहिए :
पत्ता गोभी
टमाटर
ब्रोकली
कीवी
संतरे
करेला
ककड़ी

क्या चाय पीने से शुगर होता है?:

चाय का अत्यधिक मात्रा में सेवन मधुमेह ही नहीं अनेक रोगो को आमंत्रित करता है | किन्तु चाय पीने या मीठा खाने से शुगर नहीं होती है | शुगर की बीमारी वंशानुगत, अत्यधिक आराम, अत्यधिक तनाव, पर्याप्त नींद नहीं लेना व अन्य कारणों की वजह से होती है | किन्तु यदि आपको स्वस्थ रहना है तो चाय की सिमित मात्रा में ही करना है |

मधुमेह रोगी को तो शक्कर वाली चाय का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए | ऐसे व्यक्तियों को फीकी चाय या ग्रीन टी, लेमन टी या अन्य हर्बल टी चाहिए ऐसी चाय पीनी चाहिए जिसमे शक्कर न हो |

क्या पैदल चलने से शुगर कम होता है?(How to Lower Glucose Levels?):

हाँ नियमित रूप से पैदल चलने से शुगर कम होती है | एक शोध से ज्ञात हुआ है की प्रतिदिन एक हजार कदम चलने से मधुमेह होने का खतरा 6 प्रतिशत कम हो जाता है | इस प्रकार यदि आप अपने शरीर की क्षमता के अनुसार 4-5 हजार कदम नियमित रूप से टहलने है तो निश्चित ही आप को शुगर होने की संभवानाए काफी कम हो जाती है |

किन्तु यदि आपको शुगर (Diabetes) हो गई है और आप नियमित रूप से पैदल चलते है तो निश्चित ही आपकी शुगर का स्तर अपने उचित स्तर पर रहेगा |

शुगर में चावल खा सकते हैं क्या?(How to Reduce Sugar Level Home Remedies?):

प्राय: यह कहा जाता है की आपको डायबिटीज (Diabetes) है तो चावल नहीं खाना चाहके । चावल में उच्च कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) होता है आवर चावल का जीआई स्कोर (GI score) अत्यधिक होता है | यदि आपको मधुमेह (Diabetes) है, तो आप को चावल की अत्यधिक कम मात्रा का ही सेवन करना है | यदि आप चावल का सेवन नहीं करते है तो शुगर नहीं बढ़ेगी | चावल के स्थान पर आप उचित मात्रा में ब्राउन राइस का सेवन कर सकते है |

दूध पीने से शुगर बढ़ता है क्या? (How to Control Sugar):

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार दूध में मौजूद लैक्टोज ब्लड शुगर को बढ़ा सकते है। लेकिन कम कैलोरी और कम फैट वाले दूध में शुगर की मात्रा बहुत कम होती है। इसलिए लो फेट के दूध का सेवन मधुमेह रोगी कर सकते है | लो फेट के दूध व दही का सेवन करने से ब्लड शुगर नहीं बढती है

शुगर की बीमारी में क्या परहेज करना चाहिए?:(How to Reduce Sugar Level Home Remedies?):

चीनी, मिठाई, शर्बत,आम, केला, अंगूर, बेदाना,आलू, चावल से परहेज करना चाहिए। सेव और नारंगी ले सकते हैं। चावल कम मात्रा में कभी कभार लिया जा सकता है। हरि सब्जी खा सकते हैं।

शुगर में गुड़ खा सकते हैं क्या? :

आयुर्वेद के मतानुसार मधुमेह के रोगियों को गुड़ नहीं खाना चाहिए | क्योकि गुड़ में शर्करा का बहुत अधिक मात्रा होती है | इसलिए मधुमेह रोग में गुड़ का सेवन उचित नहीं है |

शुगर में कितनी बार खाना खाना चाहिए?(Sugar ko Kaise Control Kare):

शुगर होने पर कितनी बार खाना चाहिए इसके बारे में विभिन्न चिकित्सा पद्धतियों में अलग-अलग मत है | एलोपैथी चिकित्सा पद्धति कहती है की थोड़ा-थोड़ा बार बार खाओ | आयुर्वेद कहता कहता है केवल दो बार खाओ | इस विषय पर सभी चिकित्सा विशेषज्ञो के अलग-अलग मत है |

हमें इस भ्रम में नहीं पड़ना है | यदि आपकी रक्त शर्करा घटती-बढ़ती है तो आपको अपने चिकित्सक के परामर्श का ही पालन करना है | किन्तु यदि आप सामान्य मधुमेह रोगी है तो आपको केवल दो बार ही आहार का सेवन करना है | इसके अतिरिक्त आप दिन में सब्जियों का सूप, कच्ची सब्जिया, फीके फल, अंकुरित अनाज, बादाम, अखरोट व अन्य सकारात्मक आहार का सेवन कर सकते है |

शुगर में मेथी दाना कैसे खाना चाहिए?(How to Reduce Blood Sugar Level Immediately):

शुगर होने पर मैथीदाने का सेवन रक्त शर्करा को नियंत्रित करता है | रक्त शर्करा(Blood Sugar) को नियंत्रित करने के लिए २ चम्मच मैथीदाना रात को धोकर 100 मिली पानी में गला दे | इस पानी को सुबह छानकर पी ले | शेष बचे हुए मैथीदाने को अंकुरित कर या ऐसे ही कच्चा भोजन के पहले चबाकर खा ले |

इस प्रकार से मैथीदाने का सेवन करने से आप आसानी से अपने रक्त शर्करा को नियंंत्रित कर सकते है

शुगर के मरीज को कितना पानी पीना चाहिए? (How to Reduce Blood Sugar?):

शुगर के मरीज को 2-3  लीटर पानी का सेवन करना चाहिए | क्योकि पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करने से रक्त शर्करा ही नियंत्रित नहीं होती है बल्कि शरीर के समस्त अंग सुचारु रूप से कार्य करते है | हमारे शरीर में 70  प्रतिशत से अधिक पानी पाया जाता है

गेहूं की रोटी खाने से शुगर बढ़ता है क्या?(How to Lower Glucose?):

गेहूँ की रोटी खाने से शुगर बढ़ती है | आम तोर पर व्यक्ति कहता है की में दाल रोटी खा रहा हूँ फिर भी शुगर बढ़ रही है | यह सही है क्योकि गेहूँ की रोटी में पर्याप्त मात्रा में शर्करा होती है | यही शर्करा हमारे रक्त में रक्त शर्करा (Blood Sugar) की मात्रा को बढ़ाती है |

इसलिये अनेक आहार विशेषज्ञ ज्वार या बाजरे की रोटी खाने की सलाह देते है

आवश्यक सावधानी:

आपको अपने रक्त की नियमित जांच करवाते रहना चाहिए | ताकि आपकी रक्त शर्करा (Blood Sugar Level) उचित स्तर हो | आपका रक्त शर्करा स्तर (Normal Sugar Level) उचित रहना चाहिए | क्योकि रक्त शर्करा का स्तर अत्यधिक कम (Hyperglycemia) होने पर जीवन संकट में आ जाता है | इसलिये रक्त के स्तर की जांच करवाना आवश्यक है |

इसके साथ ही चिकित्सक के परामर्श से लिपिड प्रोफाइल, यूरिन टेस्ट व अन्य आवश्यक पैथालॉजिकल जांचो को नियमित अंतराल के बाद अवश्य करवाना चाहिए | इस प्रकार आपके आहार व चिकित्सा की यही दिशा जारी रह सके |

इस लेख को लिखने के प्रति हमारा उदेश्य बिना किसी अतिरिक्त दवाई के सेवन के शरीर को स्वस्थ रखा जाय | आप अपनी नियमित दवाइयों का सेवन कर सकते है |